साहेबपुर कमाल में निर्माणाधीन पुल का आधा भाग टूटकर नदी में गिरा, नौ साल से चल रहा था बनाने का काम

खबरें बिहार की जानकारी

साहेबपुरकमाल प्रखंड क्षेत्र की बिष्णुपुर अहोक पंचायत जाने वाली बूढ़ी गंडक पर बने पुल का आधा भाग टूटकर नदी में समा गया। यह पुल 13 करोड़ की लागत से बना था। यह पुल नौ साल से बन रहा था। इस पुल का अभी उदघाटन भी नही हुआ था। घटिया निर्माण के कारण तीन दिन पहले पुल में दरार आ गई। पुल टूटने के बाद ग्रमीणों में मायूसी है और वह इसको लेकर निर्माणकर्ता को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।

दोनों तरफ चौकीदार को किया गया था नियुक्त

पुल में आई दरार की सूचना अधिकारियों को दी गई, जिसके बाद बलिया अनुमंडल प्रशासन एसडीओ रोहित कुमार, डीएसपी कुमार बीर धीरेन्द्र, साहेबपुरकमाल सीओ सतीश कुमार सहित अधिकारी पहुँचकर निरीक्षण किया था। पुल की देख रेख के लिए दोनों तरफ चौकीदार को नियुक्त किया गया। हालांकि रविवार की सुबह पुल का आधा भाग टूटकर नदी में गिर गया। पुल टूटने की सूचना पर ग्रामीणों में काफी मायूसी देखी जा रही है। साथ ही इस घटिया निर्माण से निर्माणकर्ता को कोस रहे है। साथ ही इस पुल को देखने के लिए लोगों की भीड़ लग रही है।

पहले भी हो चुकी है इस तरह की घटना

मालूम हो कि हाल ही में भागलपुर में इसी प्रकार का एक घटना देखने को मिला था। जिले के कोसी नदी पर हरिओ के त्रिमुहान घाट के पास निर्माणाधीन पुल का एक पाया कोसी की तेज धार में बह गया था। बहुप्रतीक्षित एनएच 106 मिसिंग लिंक (30किलोमीटर ) बिहपुर से फूलोत तक कोसी नदी पर बन रहे पुल का एक 124 नंबर पाया (कुंआ ) हरिओ के त्रीमुहान घाट के पास कोसी नदी के तेज बहाव में बह गया। 1400 टन वजनी और उसका व्यास 8.50 मीटर के इस पिलर के बह जाने से निर्माण करने वाली कंपनी को 2.27 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.