पिया या पिलाई शराब-तो होंगे बेघर, मकानों को जब्त कर सरकार करेगी नीलाम

खबरें बिहार की

शराब पीने-पिलाने और रखने को इस्तेमाल में आए 491 आवासों को सरकार जब्त करेगी। इनमें 408 आवास निजी और 83 आवास व्यावसायिक हैं। इन्हें नीलाम किया जाएगा। इसकी प्रक्रिया आरंभ हो गयी है। वहीं ब्रेवरेज कॉरपोरेशन के गोदाम में रखी विभिन्न कंपनियों की 90.54 करोड़, 43 हजार के शराब को जल्द ही नष्ट किया जाएगा।

मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव ने गुरुवार को सूचना एवं जनसंपर्क विभाग स्थित संवाद कक्ष में इस आशय की जानकारी दी। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने साफ कहा कि फिलहाल एमवीआर व सर्किल रेट बढ़ाए जाने के कोई प्रस्ताव नहीं है। संवाददाता सम्मेलन में विभाग के प्रधान सचिव अमीर सुबहानी, एडीजी (पुलिस मुख्यालय) एसके सिंघल व उत्पाद आयुक्त आदित्य दास भी उपस्थित थे।

शराब
शराब के रैकेट में लगे लोगों के खिलाफ हुई कार्रवाई के संबंध में बताया गया कि पूरे संगठित ढंग से इस धंधे को चलाया जा रहा। पुलिस ने इसकी तह में जाकर काम किया और इस क्रम में 14710 लोगों को गिरफ्तार किया गया। चार स्तर से यह धंधा चल रहा है। चारों स्तरों पर कार्रवाई हुई। इनमें आपूर्तिकर्ता 1624, प्राप्तकर्ता, 4344, भंडारण करने वाले 549 और वितरण करने वाले 4490 लोगों को गिरफ्तार किया गया।




शराब
दूसरे राज्यों से इस धंधे को आपरेट कर रहे सरगना के बैंक एकाउंट फ्रीज किए गए।चाहे जो भी हो, इस धंधे में लगे किसी को बख्शा नहीं जाएगा। शराबबंदी के नए कानून के बाद पांच लोगों को अब तक सजा हुई है। इनमें बेगूसराय के एक, जहानाबाद व पश्चिम चंपारण के दो-दो लोग शामिल हैं। विभाग के प्रधान सचिव ने बताया कि पकड़े गए गिरोह के तार हरियाणा, छत्तीसगढ़ और झारखंड से अधिक जुड़े हैं।







Leave a Reply

Your email address will not be published.