शराबबंदी के बाद बिहार में दहेजबंदी का अभियान, नीतीश ने कहा बंद होगा दहेज़ बिहार में

खबरें बिहार की

फ्लोराइड प्रभावित गांवों के लिए मुंगेर में ग्रामीण जलापूर्ति योजना का मुख्यमंत्री ने किया उद‌्घाटन, कहा- शराबमुक्ति की तर्ज पर चले दहेजमुक्ति के लिए आंदोलन

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि 2 अक्टूबर से बापू के जन्मदिवस से दहेज प्रथा के खिलाफ उसी तरह से अभियान चलेगा, जिस तरह से शराबमुक्ति के लिए अभियान चलाया जा रहा है।

उसमें आप सबका सहयोग चाहिए। मन बना लीजिए- दहेज न  देंगे, दहेज न लेंगे। अगर किसी शादी में दहेज लिया गया हो तो कृपा करके उस शादी में आप मत जाइएगा। जो लोग दहेज लें, उनके वहां भोज खाने मत जाइए।
मुख्यमंत्री मुंगेर जिले के हवेली खड़गपुर क्षेत्र में खैरा बहुग्रामीण जलापूर्ति योजना के उद‌्घाटन के बाद खैरा गांव में जनसभा काे संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार के परिवर्तन के लिए हमने कई कार्य किए हैं।

खास करके महिला सशक्तिकरण के साथ-साथ शराबबंदी लागू किया है। अब बिहार नशा मुक्ति की ओर जा रहे हैं। हमनें समाज की कुरीतियों को दूर करने का संकल्प लिया है। चाहे वह दहेज प्रथा हो या बाल विवाह इसके खिलाफ भी सशक्त अभियान चलेगा।

मैं उस दृश्य को कभी नहीं भूल सकता हूं…
मुख्यमंत्रीने कहा कि आज से 7 वर्ष पहले विश्वास यात्रा के दौरान 5 जून, 2010 काे खैरा गांव आया था। वह कार्यक्रम मैंने इसलिए निर्धारित किया था कि मुझे जानकारी मिली थी कि यह गांव तथा आसपास के कुछ और गांव फ्लोराइड प्रभावित हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.