विपक्ष पर निशाना साध बोले सुशील मोदी- अफवाह गैंग को नकार सफल होगा टीकाकरण अभियान

खबरें बिहार की

पटना: भाजपा सांसद सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि राज्य में कोरोना टीकाकरण के लिए 300 केंद्र बनाए गए। कुल 10 हजार 600 स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षित किया गया और हर केंद्र पर रोजाना 100 लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया है। बिहार के लोग अफवाह गैंग को करारा जवाब देकर कोरोना टीकाकरण अभियान को सफल बनाएंगे।

शनिवार को ट्वीट कर सांसद ने कहा कि जो लोग बिहार की चिकित्सा व्यवस्था पर सवाल उठा रहे थे और कह रहे थे कि यहां रूई-सूई भी नहीं, उन्हें पटना एम्स सहित कई मेडिकल कॉलेज अस्पतालों में वेंटिलेटर और अन्य आधुनिक उपकरण दिखाई नहीं पड़े। बिहार में मात्र 1500 संक्रमितों को बचाया नहीं जा सका, जबकि महाराष्ट्र में 50 हजार से अधिक लोगों की मृत्यु हुई।

कोरोना संक्रमण को नियंत्रित रखने के लिए बिहार सरकार ने न केवल लॉकडाउन के नियमों का पालन कराया, जरूरतमंद लोगों के लिए राशन की व्यवस्था की, बल्कि एंटीजन टेस्ट, वेंटिलेटर और जांच का अच्छा इंतजाम किया। रोजाना डेढ़ लाख तक सैम्पल की जांच की गई। स्वास्थ्य विभाग की तत्परता से बिहार में कोरोना से मरने वालों की दर बहुत कम। ठीक होने वालों की दर 98 फीसदी तक रही।

एक अन्य ट्वीट में कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में भारत ने कोरोना से बचाव के लिए सबसे पहले 16 जनवरी 2020 को एडवाइजरी जारी की। सबसे पहले लॉकडाउन लागू कर लाखों लोगों की जान बचायी और कोरोना से बचाव के दो टीके बना कर चिकित्सा अनुसंधान के क्षेत्र में अपना लोहा मनवाया।

देश के लिए यह गर्व की बात है कि कोरोना फैलने के ठीक साल भर बाद भारत कोरोना टीकाकरण का पहला चरण प्रारम्भ कर रहा है। इस चरण में जिन 3 करोड़ लोगों को टीके लगेंगे, उनमें बिहार के 30 हजार सफाईकर्मी भी होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *