प्रभु ने PM से रेल मंत्रालय की ज़िम्मेदारियों से मुक्त करने के लिए कहा- रेल हादसों से आहत हूँ

राष्ट्रीय खबरें

अभी अभी रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने लगातार हो रहे रेल हादसे की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए प्रधानमंत्री मोदी से मिलकर इस्तीफे की पेशकळ की। प्रधानमंत्री ने उन्होंने इंतजार करने को कहा है।

सुरेश प्रभु ने ट्वीट कर ये जानकारी दी। सुरेश प्रभु ने ट्वीट किया कि रेल हादसों को लेकर मैं दुखी हूं। मैं खून-पसीना एक कर के रेलवे की बेहतरी के लिए काम किया।
इससे पहले रेलवे बोर्ड के चेयरमैन एके मित्तल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया। दरअसल बार-बार हो रहे हादसों के कारण भारतीय रेल विभाग निशाने पर था, जिसके बाद मित्तल का यह इस्तीफा सामने आया है।

इससे पहले, उत्तरप्रदेश में पिछले पांच दिनों में दूसरा ट्रेन हादसा हुआ है। जानकारी के मुताबिक, बीती रात करीब 2।30 बजे कानपुर और इटावा के बीच औरैया जिले में आजमगढ़ से दिल्ली आ रही कैफियात एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई है।

जानकारी के अनुसार हादसा मानव रहित फाटक पर खड़े एक डंपर से ट्रेन के टकराने के चलते हुआ है। दुर्घटना में इंजन सहित 10 डिब्बे पटरी से उतर गए हैं।




रेल




इस हादसे में 75 यात्रियों के घायल होने सूचना है। दुर्घटना के बाद राहत और बचाव कार्य जारी है वहीं इस ट्रैक से गुजरने वाली कईं ट्रेनें रद्द की गईं है जबकि 7 का रूट बदला गया है।
घटना की जानकारी मिलने के बाद रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने बुधवार सुबह ट्वीट कर बताया कि वे हालात पर खुद नजर बनाए हुए हैं। कुछ यात्रियों को चोटें लगी हैं। अधिकारियों को निर्देश दे दिए गए हैं।




एनसीआर रेलवे के सीपीआरओ जीएन बंसल ने हादसे के बारे में जानकारी देते हुए कहा है कि किसी भी यात्री को गंभीर चोट नहीं आई है। दुर्घटना राहत ट्रेन मौके पर पहुंच गई है और जल्द ट्रैक पर यातायात शुरू किया जाएगा।









Leave a Reply

Your email address will not be published.