राहत कार्यों

बिहार के ये IPS दिन-रात कर रहे बाढ़-पीड़ितों की राहत कार्यों में जुटे… छोड़ के आये थे अमेरिका में जॉब

खबरें बिहार की

पूर्णिया के एसपी निशांत तिवारी इन दिनों चर्चा में हैं। निशांत इनदिनों बाढ़ प्रभावित इलाकों में जाकर राहत कार्यों का जायजा खुद ले रहे हैं। कभी डीएम प्रदीप कुमार झा तो कभी बायसी के एसडीओ शशांक के साथ निशांत निकल पड़ते हैं जरुरतमंदों की सहायता के लिए।

बता दें कि कभी निशांत अमेरिका की एक कंपनी में जॉब करते थे। फिर लौटे तो पढ़ाई कर पहली बार में ही यूपीएससी क्लियर कर लिया। निशांत की शुरुआती पढ़ाई नेतरहाट से हुई है। इस दौरान पूरे राज्य में उन्होंने टॉप किया था।

फिर निशांत ने सीबीएसई से बारहवीं में एडमिशन लिया और दिल्ली इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी से इंजीनियरिंग की।
इस दौरान भी निशांत इंस्टिट्यूट टॉपर रहे। फिर सॉफ्टवेयर इंजीनियर के तौर पर ज्वाइनिंग अमेरिका के एक कंपनी में हो गई।




 राहत कार्यों




चार साल यहां रहने के बाद उनका मन नहीं लगा तो इंडिया लौट आए और फिर यूपीएससी की पढ़ाई की और पहली बार में ही इसे क्लियर कर लिया। बता दें कि 2005 बैच के आईपीएस अधिकारी निशांत कुमार तिवारी पहले भी पूर्णिया में दो बार एसपी रह चुके हैं।

इसके अलावा वे गया सहित कई अन्य जिलों में भी एसपी रहे हैं। निशांत जब इंडिया लौटे थे तो पढ़ाई के साथ गरीब बच्चों को पढ़ाने का सोचा। इसके लिए उन्होंने ‘मेरी पाठशाला’ खोली। जहां वे अब भी शाम को जाते हैं और गरीब बच्चों को खुद पढ़ाते हैं। पिछले 12 सालों के दौरान निशांत की अब तक 7 जिलों में तैनाती हो चुकी हैं और हर जिले में उन्होंने गरीबों के लिए कुछ ना कुछ किया है।




राहत कार्यों




बुजुर्गों के लिए उन्होंने जहां हेल्थ कैंप लगाए वहीं गरीब लोगों को मुफ्त में नजर के चश्मे और कंबल बांटे। साल 2016 में निशांत की पोस्टिंग पूर्णिया में हुई। ये पटना से करीब 350 किलोमीटर दूर एक बाढ़ ग्रस्त इलाका है।

इस इलाके में फिलहाल बाढ़ के हजारों लोग प्रभावित हैं। यहां लोगों के लिए चलाए जा रहे राहत कार्यों के बारे में निशांत जानकारी लेते रहते हैं। कई बार वे खुद मौके पर पहुंचते हैं और पीड़ितों के साथ कभी खाना खाते हैं तो भी उनसे बातचीत करते हैं।




बता दें कि पांच नदियों से घिरे पूर्णिया के बायसी सबडिवीजन में बाढ़ ने तबाही मचाई हुई है। सबडिवीजन की 6 पंचायतें बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित है।



























Leave a Reply

Your email address will not be published.