राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा से पहले अमेरिका ने बड़ा बयान दिया है. चेतावनी देते हुए अमेरिका ने कहा है कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करे. वह भारत से बात करना चाहता है, लेकिन उसे पहले आतंक पर कार्रवाई करनी होगी. पाकिस्तान अपने सभी मुद्दे आपसी बातचीत से ही सुलझाए.

ह्वाइट हाउस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने भारत-पाकिस्तान के बीच वार्ता की मध्यस्थता के सवाल पर कहा, ‘राष्ट्रपति ट्रंप चाहते हैं कि दोनों देशों के बीच तनाव कम हो. दोनों देशों को शांतिपूर्ण ढंग से आपसी बाचतीत करके मामलों को सुलझाना चाहिए.’

अधिकारी ने बताया, ‘हमारा मानना है कि भारत और पाकिस्तान के बीच कोई भी वार्ता तभी सफल होगी, जब पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करे और आतंक का खात्मा कर दे. हम इसपर लगातार नजरें भी बनाए हुए हैं.’ उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि राष्ट्रपित ट्रंप फिलहाल दोनों देशों से LOC पर शांति बनाए रखने की अपील कर सकते हैं.

अफगानिस्तान में शांति बहाल करने की प्रक्रिया पर ह्वाइट हाउस के अधिकारी ने बताया कि अमेरिका ने इस मामले में भारत से भी मदद मांगी है. उन्होंने कहा कि हमने भारत से इस मामले में जितना भी संभव हो सके, मददे करने की अपील की है.

बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 24 और 25 फरवरी को भारत की दो दिवसीय यात्रा पर आ रहे हैं. इस बीच वे पत्नी मेलानिया के साथ ताज महल देखने आगरा भी जाएंगे. उन्हें ताज दिखाने प्रधानमंत्री पीएम मोदी खुद जाएंगे.

SOURCE – ZEE NEWS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here