छत्तीसगढ़ के धमतरी में गणतंत्र दिवस के मौके पर सात साल की मासूम अंशिका को वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा. अपनी बहन की जान बचाने के लिए साहसी बालिका अंशिका साहू को राज्यपाल अनुसुईया उईके गणतंत्र दिवस के मौके पर पुरस्कार देंगी.

आपको बता दें कि, 17 जनवरी 2018 को अंशिका और उसकी बड़ी बहन आकंक्षा खेल रहे थे. तभी आकंक्षा ने गलती से विद्युत मीटर के खुले तार को छू लिया. जिससे वो करंट की चपेट में आ गई. इस हादसे के बाद हड़कंप मच गया. लेकिन अंशिका ने अपनी बहादुरी दिखाते हुए उसे करंट की चपेट से दूर किया. अंशिका ने प्लास्टिक की चप्पल तार पर फेंककर अपनी बहन की जान बचाई.

अंशिका के इसी नेक काम के लिए भारतीय बाल कल्याण परिषद द्वारा उसे राज्य वीरता पुरस्कार 2019 हेतु चयनित किया गया है. 26 जनवरी 2020 को गणतंत्र दिवस के मौके पर राज्यपाल अनुसुईया उईके के द्वारा उसे सम्मानित किया जाएगा. अंशिका साहू का कहना है कि वह पढ़ लिखकर टीचर बनना चाहती है. उसके पिता और बड़ी बहन भी वीरता पुस्कार मिलने से बहुत खुशी हैं.

वहीं अंशिका को राज्य वीरता पुस्कार से सम्मानित किए जाने की खबर से स्कूल के टीचर भी काफी खुश हैं. क्लास टीचर बताते हैं कि अंशिका क्लास मे काफी होशियार है. वह परीक्षा के दौरान 99 प्रतिशत लाई है.

source – zee news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here