मुख्यमंत्री

ब्रेकिंग न्यूज़ : मुख्यमंत्री ने सृजन घोटाले की CBI जांच का दिया निर्देश

खबरें बिहार की

करीब हजार करोड़ रूपये से अधिक के हो गए भागलपुर के सृजन महाघोटाले की अब सीबीआई जांच होगी. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मामले की सीबीआई जांच के निर्देश दे दिए हैं. बता दें कि इस मामले के सामने आने के बाद से ही राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद सहित तमाम विपक्षी दल इस महाघोटाले की सीबीआई जांच की लगातार मांग कर रहे थे.मुख्यमंत्री

गौरतलब है कि इस मामले में जैसे-जैसे जांच आगे बढ़ रही है नए-नए खुलासे सामने आ रहे हैं. जिला कल्याण पदाधिकारी को जेल भेजे जाने के बाद अब पुलिस ने पूर्व भू-अर्जन पदाधिकारी राजीव रंजन की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी तेज कर दी है. राजीव की अरेस्टिंग के लिए एसआईटी का गठन किया गया. बताया जा रहा है कि घोटाला उजागर होने के बाद से ही राजीव रंजन फरार चल रहे हैं. फिलहाल वे भागलपुर में जिला शिकायत कोषांग के प्रभारी पदाधिकारी हैं.



मुख्यमंत्री
सृजन महिला विकास सहयोग समिति लिमिटेड दो तरीकों से सरकारी खजाने से अवैध निकासी का काम करती थी. एक तरीका था स्वीप मोड और दूसरा था चेक मोड. स्वीप मोड के जरिए भारी रकम राज्य सरकार या केंद्र सरकार द्वारा भागलपुर जिले के सरकारी खातों में जमा कराए जाते थे. स्वीप मोड में राज्य सरकार या केंद्र सरकार एक पत्र के माध्यम से बैंक को सूचित करती थी, कितनी राशि बैंक में जमा करा दी गई है.




मुख्यमंत्रीआरोप है कि बैंक के अधिकारी भी इस पूरे गोरखधंधे में शामिल थे. वह सरकारी खाते में इस पैसे को जमा नहीं दिखाकर सृजन के खाते में इस पूरे पैसे को जमा कर दिया करते थे. दूसरा तरीका था चेक मोड, जहां पर राज्य सरकार या केंद्र सरकार जो भी पैसे भागलपुर जिले के सरकारी खातों में जमा कराना था वह चेक के माध्यम से किया जाता था.




मुख्यमंत्रीएक बार सरकारी खाते में चेक जमा हो जाता था तो फिर जिलाधिकारी के दफ्तर में शामिल कुछ लोग जो कि इस गोरखधंधे में हिस्सा थे जिलाधिकारी के फर्जी हस्ताक्षर से अगले दिन वही राशि सृजन के अकाउंट में जमा करा दिया करते थे.




मुख्यमंत्रीइस मामले में सृजन संस्था की संस्थापक रहीं दिवगंत मनोरमा देवी के बेटे-बहू पर पुलिसिया दबिश बढ़ा दी गयी है. वहीं किसी भी समय भागलपुर के जिला कल्याण पदाधिकारी अरुण कुमार की गिरफ्तारी हो सकती है.



Leave a Reply

Your email address will not be published.