मीसा के बाद अब तेजस्वी के दिल्ली वाले 40 करोड़ के मकान पर IT ने लगाया ताला

राजनीति

आयकर विभाग ने लालू प्रसाद और उनके परिवार की कुछ बेनामी संपत्तियां जब्त करने का आदेश जारी किया है। इस क्रम में पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव का दिल्ली की न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी स्थित 40 करोड़ रुपये कीमत का मकान (डी-1088) जब्त कर लिया गया है।

जांच से जुड़े एक अधिकारी ने कहा कि यह मकान एक फर्म एबी एक्सपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड के नाम पर रजिस्टर्ड है। लेकिन इसके वास्तविक लाभार्थी तेजस्वी यादव और उनकी दो बहनें रागिनी व चंदा यादव हैं। आयकर विभाग ने इस वर्ष जून में बेनामी लेनदेन (रोकथाम) अधिनियम 2016 के तहत जब्ती का अस्थायी आदेश जारी किया था।

अब इस आदेश की पुष्टि हो गई है। जून में अस्थायी रूप से जब्त की गई अन्य संपत्तियों को भी दायरे में लिया जाएगा। आयकर विभाग ने इससे पहले लालू, उनकी पत्नी राबड़ी देवी, बेटे तेजस्वी यादव, बेटियां चंदा, रागिनी यादव और सांसद मीसा भारती और दामाद शैलेश कुमार को संपत्ति जब्त करने संबंधी नोटिस थमाया था।

विभाग दिल्ली और बिहार में एक दर्जन प्लॉट जब्त कर चुका है। इसमें दिल्ली के पालम विहार इलाके में एक फर्म हाउस दक्षिणी दिल्ली के फ्रेंडस कालोनी में एक भवन और पटना के फुलवारीशरीफ में 256.75 डिसमिल जमीन पर नौ प्लॉट शामिल हैं। पटना के फुलवारी शरीफ वाली जमीन पर शॉपिंग मॉल बनाया जा रहा था।

ऐसी संपत्तियां उसे मानी जाती है जिसमें जिसके नाम पर संपत्ति खरीदी गई है वह उसका वास्तविक मालिक नहीं होता है। अधिनियम के तहत वास्तविक मालिक, बेनामी खरीदार, मध्यस्थ और बेनामी लेनदेन में पहचान बने लोगों के खिलाफ मामला चलाने की व्यवस्था है। कानून के तहत मुआवजा दिए बगैर सरकार ऐसी संपत्तियों को जब्त कर सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.