भारत-नेपाल के बीच 8 करार, पड़ोसी देश में 50 हजार मकान बनाए जाएंगे

अंतर्राष्‍ट्रीय खबरें

भारत और नेपाल के बीच गुरुवार को 8 समझौते हुए। इनमें से एक अहम करार ड्रग ट्रैफिकिंग पर सख्ती से रोक लगाने का है। एक करार के तहत भारत नेपाल में 50 हजार घर भी बनाएगा। समझौतों के बाद नरेंद्र मोदी और उनके काउंटर पार्ट शेर बहादुर देउबा ने ज्वॉइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस की। मोदी ने कहा- हम अपनी दोस्ती को पहले से भी ज्यादा मजबूत करेंगे। देउबा ने कहा- मैं भारत को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि नेपाल की जमीन का इस्तेमाल भारत के खिलाफ नहीं होने देंगे। बता दें कि मोदी प्रोटोकॉल तोड़कर बुधवार को देउबा से मिलने पहुंचे थे। हालांकि, दोनों की ऑफिशियल मुलाकात गुरुवार को तय थी।मोदी ने नेपाल पर क्या कहा…
– मोदी ने कहा- भारत नेपाल को ये भरोसा दिलाना चाहता है कि उसके विकास के लिए पूरी मदद देगा। दोनों देशों ने कातिया-कुशा और रक्सौल-परवानीपुर क्रॉस बाॅर्डर ट्रांसमिशन लाइन का भी इनॉगरेशन किया।
– मोदी ने कहा कि भारत और नेपाल के बीच डिफेंस और सिक्युरिटी एक बड़ा मुद्दा है। इसके पहले देउबा का राष्ट्रपति भवन में ऑफिशियल वेलकम किया गया। देउबा स्टेट गेस्ट के तौर पर राष्ट्रपति भवन में ही रुके हैं। देउबा ने गुरुवार को ही विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से भी मुलाकात की।
– बता दें कि नेपाल के पीएम अपने पहले विदेशी दौरे के तहत भारत आए हैं। वो जून में पीएम बने थे। उनका यह दौरा इसलिए भी खास है क्योंकि चीन नेपाल पर प्रभाव जमाने के लिए हर तरह के हथकंडे अपना रहा है। भारत और चीन के बीच डोकलाम में तीन महीने से विवाद चल रहा है।
देउबा का भारतीय कंपनियों को न्योता
– नेपाल के पीएम ने बुधवार रात भारतीय कारोबारियों से मुलाकात की। देउबा ने कहा- मैं चाहता हूं कि भारतीय कंपनियां हमारे देश में इन्वेस्टमेंट करें। ताकि वहां भी भारत की तरह विकास हो सके। इसके लिए हम एक इन्वेस्टमेंट समिट करने जा रहे हैं।
– मोदी ने कहा- नेपाल के विकास में भारत की अहम भूमिका है। पीएम ने नेपाल में बिजली ट्रांसमिशन के क्षेत्र में भारत की मदद के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि नेपाल में पहले से दी जा रही 350 मेगावॉट बिजली को 100 मेगावॉट और बढ़ाया जा सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.