बिहार के दो सौ स्कूलों में होगी ई-लर्निग से पढ़ाई, बच्चे बनेंगे स्मार्ट

खबरें बिहार की

सरकार ने प्रदेश के दो सौ हाईस्कूलों में ई-लर्निग के माध्यम से छात्रों को गणित, विज्ञान और अंग्रेजी जैसे विषयों की शिक्षा देने का फैसला किया है।

जिन स्कूलों में ई-लर्निग के माध्यम से पढ़ाई प्रारंभ होगी उन स्कूलों में दो-दो प्रोजेक्टर लगाने के साथ ही सरकार बच्चों को पेन ड्राइव और सीडी के माध्यम से संबंधित विषयों के बारे में जानकारी देगी।

शिक्षा विभाग ने इस कार्ययोजना को अंतिम रूप देने के बाद अब राज्य इलेक्ट्रॉनिक विकास निगम लिमिटेड (बेल्ट्रान) के प्रबंध निदेशक को पत्र लिखा है।

पत्र के माध्यम से बेल्ट्रॉन से संबंधित स्कूलों में प्रोजेक्टर उपलब्ध कराने को कहा गया है। माध्यमिक शिक्षा निदेशक आरपीएस रंजन ने अपने पत्र में योजना का हवाला देकर कहा है कि सरकार पायलट प्रोजेक्ट के तहत यह योजना शुरू कर रही है।

हाई स्कूलों में गणित, विज्ञान और अंग्रेजी विषय के शिक्षकों की कमी को देखते हुए ई-लर्निग के माध्यम से पढ़ाई कराने का फैसला हुआ है।

पायलट प्रोजेक्ट के तहत पटना जिले में 15 और अन्य 37 जिलों में पांच-पांच स्कूलों में ई-लर्निग से पढ़ाई शुरू होगी।

पटना जिले के जिन पन्द्रह स्कूलों में यह व्यवस्था बहाल की जा रही है उसमें एक जिला स्कूल, दस ग्रामीण क्षेत्रों के हाईस्कूल शामिल रहेंगे।

जबकि जिला स्तर पर फिलहाल पांच-पांच स्कूलों में ई-लर्निग से पढ़ाई कराई जाएगी। निदेशक, माध्यमिक शिक्षा ने बेल्ट्रॉन से कहा है कि पायलट प्रोजेक्ट के बाद इसे पूरे राज्य में लागू किया जाएगा इसलिए बेल्ट्रान परियोजना का विस्तृत डीपीआर बना सरकार को सुझाव दे कि यह कार्य कैसे सफलतापूर्वक हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.