* बिपरीत परिस्थिति में दोनों पटना के एसएसपी मनु महाराज से कम नही,हाथों में उठ जाए डंटे तो ताक-धिना-धिन धिन करने लगता हैं उपद्रवी ।

आस्था

 

मुकुन्द कुमार अग्रवाल(सोनबरसा,सीतामढ़ी) आज शनिवार को मां दुर्गा की प्रतिमा का विसर्जन है तो रविवार को ताजिया। स्वाभाविक है ऐसे में बिधिब्यवस्था की चिन्ता बढ़ना स्वाभाविक है,परन्तु जो भी विकट परिस्थितियों में पिछले वर्ष डीएम राजीव रौशन व एसपी हरि प्रसाद एस को कानून ब्यवस्था को दुरुस्त करने की बेहतर क्षमता को देख चुके हैं निश्चित ही वैसे लोग विसर्जन व ताजिया को बड़े ही मजे से देखने मे जरा भी हिचक नही करेंगे और ना ही शौपिंग हेतु बाहर जाने में हिचकेंगे।

जिले में तमाम उतार-चढ़ाव के बीच लोगो मे एक बिस्वास पिछले वर्ष से ही बना हुआ है कि जब तक सीतामढ़ी में डीएम राजीव रौशन व एसपी हरिप्रसाद एस की जोड़ी बनी हुई है तब तक किसी भी असमाजिक तत्वों की मन्सा पूरी नही हो सकती । मतलब साफ है पर्वो में बिधि-ब्यवस्था दुरुस्त है,आप बेफिक्र हो पर्वो का मजा लें,कारण हर जगह 6-6 फुट का हट्टा-कट्ठा व दिलेर जवान दोनों अधिकारियों के आदेश पर जिले के चप्पे-चप्पे पर तैनात हैं । जरा भी किसी ने गड़बड़ी की और डीएम-एसपी ने कही डंडे उठा लिए तो कोई शक नही असमाजिक तत्व को ताक-धिना-धिन धिन करते हुए नृत्य का आप भी लुफ्त उठा सकते हैं ।

 

याद कीजिये वर्ष 2016- बीते वर्ष कचोर में ताजिया के दौरान कुछ बुरी ताकतों ने स्थानीय पुलिस-प्रशासन की जरा सी लापरवाही का फायदा उठाकर बिधि-ब्यवस्था को बिगाड़ने की नापाक हरक्क्त कर दी थी।फिर क्या था,जिला मुख्यालय से डीएम श्री राजीव व एसपी श्री प्रसाद को जितना वक्त कचोर पहुंचने में लगा बस उतने देर तक असमाजिक तत्वों ने मानो अपनी हुकूमत ही समझ ली।फिर क्या था शोले फ़िल्म की जय-बीरू की जोड़ी की तरह जब डीएम-एसपी बुलेट बाइक पर बैठे और बीर-दिलेर जवानों की लाठियां हवा में लहराई तब एक-एक लाठी असमाजिक तत्वों को बजरंगबली के गदा के समान महशुस हुई ।

और देखते ही देखते चन्द मिनट में कानून का राज कायम हो गया।सिर्फ यही नही सीतामढ़ी में कुछ उपद्रवियों की मंशा को बेनकाब करने के लिए पिछली बार जब डीएम ने हाथों में लाठी थामी तो उपद्रवियों को भागने का रास्ता भी नजर नही आ रहा था। क्या कहते हैं जन प्रतिनिधि–जिला पार्षद सह हिन्दू मुस्लिम एकता के अध्यक्ष संजय कुमार कहते हैं कि डीएम से जहां बिधि-ब्यवस्था व विकास तथा सामाजिक शौहार्दय बनाने में बेहतर कार्य करने की प्रेरणा मिली है वहीं अपराधियो व असमाजिक तत्वों से लोगो के मन से डर भगाने का श्रेय एसपी हरिप्रसाद एस को जाता है।

जिला वासी खुशनशिब हैं कि दोनों की जोड़ी की सेवा फिलहाल जिला को मिल रहा है,जिससे ओडीएफ सहित अन्य कार्यो के पूरा होने का सपना जिंदा है । समाजिक कार्यकर्ता मो.कमर अख्तर कहते हैं कि दोनों की जोड़ी सीतामढ़ी के लिए शुभ है,जब तक है जिला और जिला के लोग असामाजिक तत्वों से भय मुक्त रहेंगे । दोनों ने काफी बेहतर कार्य किये हैं। मढिया मुखिया अनिता देवी व पति बीरेंद्र कुमार कहते है कि डीएम श्री रौशन ने मेरे पंचायत मढिया को रौशन कर दिया । पंचायत के लोग उनके ऋणी हो गए हैं । एसपी श्री प्रसास भी बेहद ही ईमानदार अधिकारी हैं।

मड़पा मुखिया हबीवुल रहमान मुंशी कहते है कि मेरे पंचायत को बिहार और देश लेबल पर पहचान बनाने में डीएम श्री रौशन का अहम योगदान है,उनके सहयोग से ही सबसे पहले जिला में मड़पा पंचायत ओडीएफ हो सका । भुतही मुखिया मनोज कुमार,सोनबरसा मुखिया नीतू कुमारी व पति तरुण कुमार, मधेषरा सरपंच मो.जहांगीर आलम खान सहित कई लोगो ने बताया कि खुशकिस्मती से किसी जिला को ऐसे अधिकारी मिलते हैं,जो आम जनता की खुशी की खातिर अपने सुख-चैन की परवाह तक नही करते हैं । जिनके रहते हिन्दू-मुस्लिम के बीच प्रेम और एकता भी बढ़ा है जो इस बार पर्वो में लोगो के बीच प्रोटीन का कार्य करेगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.