खूबसूरत नहरों और सुंदरता के लिए मशहूर वेनिस शहर इस वक्त भयानक बाढ़ की त्रासदी से गुजर रहा है। दुनिया के सबसे खूबसूरत शहरों में शुमार वेनिस 53 सालों की सबसे बुरे बाढ़ के दौर से गुजर रहा है। बाढ़ की स्थिति को देखकर मेयर ने आपातकाल की घोषणा कर दी है। इटली के प्रधानमंत्री जोजेपे कान्टे ने भी फेसबुक पोस्ट लिखकर इसे इटली के लोगों के लिए बहुत दुखद अनुभव बताया है।
वेनिस में रुके प्रधानमंत्री, कहा- ‘हमारे दिल पर चोट’
आपको बताते चले कि वेनिस सिटी इटली देश के उत्तर पूर्व में स्थित एक शानदार पर्यटन स्थल और यह वेनेटो क्षेत्र की राजधानी के रूप में भी जाना जाता हैं। वेनिस सिटी अपनी सुंदर कलाकृति और खासतौर पर वेनिस गोथिक वास्तुकला के लिए प्रसिद्ध हैं। वेनिस एक खूबसूरत शहर हैं जोकि आपस में जुड़ी नहरों और उसकी शानदार गोंडोला सवारी के लिए बहुत अधिक लौकप्रिय है। वेनिस सिटी का रोमांस और संस्कृति इस स्थान को ओर अधिक लुभावना बनाता हैं। यह स्थान पूरी तरह से एक सपने जैसा प्रतीत होता हैं। इस आकर्षित शहर में हर जगह पानी की बौछार होते रहती हैं। वेनिस सिटी रोमांटिक और इसकी खूबसूरती के साथ-साथ यहां की वेनिस कला, जादू, परंपरा, इतिहास और विविधता के साथ इटली देश का गहना माना जाता है।

वेनिस सिटी में स्थित महलों और चर्चों में इस जगह का शानदार अतीत को प्रदर्शित किया गया हैं, जोकि कभी एक समृद्ध व्यापारिक केंद्र के रूप में जाना जाता था। वेनिस की खूबसूरत गलियों में खो जाना अपने आप में एक अलग ही अनुभव का हिस्सा होता है। वेनिस शहर एक रहस्यमयी स्थान हैं और यह दिन की बजाय रात में अपनी खूबसूरती का नजारा प्रस्तुत करता हैं।

पर दुःखद बात यह है कि यह खूबसूरत शहर अभी प्राकृतिक मार झेल रहा बाढ़ की वजह से इटली के वेनिस शहर में इमरजेंसी घोषित कर दी गई है. यहां की सड़कों पर 6-6 फीट पानी भर गया है. बाढ़ की वजह से शहर की बिजली काट दी गई है. दुकानें बंद हैं. टूरिस्ट्स को बाहर निकाला जा रहा है. कुल मिलाकर झीलों का शहर झील के भीतर ही समा गया है. अब सवाल उठता है कि वेनिस की हालत इतनी बुरी हुई कैसे, क्या वजहें रहीं…
छोटी छोटी बातों पर गौर ना करते हुए अगर बड़े नतीज़े पर पहुंचते हैं तो इस खूबसूरत शहर के पतन में भूमण्डलीय उष्णा/ग्लोबल वार्मिंग/क्लीमेंट चेंज ने बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाई ।
मार्च, 2017 में क्लाइमेट चेंज पर एक रिपोर्ट आई थी. जिसमें इस बात का जिक्र था कि अगर ग्लोबल वॉर्मिंग का कुछ नहीं किया गया तो एक शताब्दी के भीतर वेनिस शहर पूरी तरह से पानी में डूब जाएगा, तबाह हो जाएगा.

अब 2019 में आते हैं. वेनिस शहर पूरी तरह से डूब चुका है. 12-13 नवंबर की देर शाम समंदर में आए हाई टाइड की वजह से शहर पूरी तरह पानी में डूब चुका है. यहां के बैसिलिका के साथ-साथ कई फेमस जगहों पर 6-6 फीट पानी है. इटली के प्रधानमंत्री जोजेपे कान्टे बाढ़ के हालात का जायजा लेने वेनिस पहुंचे. वहां उन्होंने कैबिनेट की बैठक ली. बाढ़ वाले इलाके में जा-जाकर लोगों से मुलाकात की.
पीएम ने बताया है कि इमरजेंसी की घोषणा के बाद बाढ़ से हुए नुकसान के बाद हर एक व्यक्ति को 5 हज़ार यूरो और कमर्शियल व्यक्ति को 20 हज़ार यूरो तक दिया जा सकता है. बाढ़ की वजह से गुरुवार के दिन शहर के सभी म्यूज़ियम बंद रखे गए.

अब सवाल यह उठता है कि क्या प्रकृति ने हमारे किये का बदला हमसे लेने की ठान ली है? क्या सच में क्लाइमेट चेंज असली है ? या फिर क्या फिर से कुछ बुद्धिजीवी इसे महज़ एक संयुग बताएंगे?
क्या हम कुछ सुधार सकते है? और सबसे बड़ा सवाल क्या हम खुद सुधर सकतें हैं ?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here