प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू से फोन पर बात की और दोनों नेताओं के बीच कोरोना वायरस से निपटने की रणनीति पर चर्चा हुई. दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों ने विभिन्न कदमों के साथ-साथ तकनीकी तौर पर कोरोना से निपटने को लेकर रणनीति पर चर्चा की.

इजरालय के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू अभी आइसोलेट हैं. ऐसे समय में पीएम मोदी का नेतन्याहू से बात करना अहम है. असल में, एक सहयोगी के कोरोनो वायरस पॉजिटिव पाए जाने के बाद इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और उनके करीबी सलाहकारों ने खुद को क्वारनटीन कर लिया था.

इससे पहले, देश में 21 दिनों तक लागू किए गए लॉकडाउन के नौवें दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर देश को संबोधित किया. प्रधानमंत्री ने देशवासियों से अपील करते हुए कहा कि कोरोना के अंधकार को प्रकाश की ताकत से हराने की जरूरत है. इसके लिए प्रधानमंत्री ने लोगों से रविवार को रात नौ बजे नौ मिनट तक दीया जलाने की अपील की है, इसका मकसद एकजुटता का संदेश देने से है.

कोरोना कमांडोज़ का हौसला बढ़ाएं और उन्हें शुक्रिया कहें…
इस अपील के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘5 अप्रैल यानी इस रविवार को रात नौ बजे लोग अपने घरों से बाहर आएं. घरों की लाइटें बंद करें और दरवाजे पर खड़े होकर दीया जलाएं, मोमबत्ती जलाएं या फिर कुछ भी प्रकाश जलाएं. इस शक्ति के जरिए हम ये संदेश देना चाहते हैं कि देशवासी एकजुट हैं. पीएम ने कहा कि एकजुटता के दमपर ही इस महामारी को मात दी जा सकती है

शुक्रवार सुबह जारी किए गए वीडियो संदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मेरे प्यारे देशवासियों, कोरोना वैश्विक महामारी के खिलाफ देशव्यापी लॉकडाउन को आज नौ दिन हो रहे हैं. इस दौरान आप सभी ने जिस प्रकार अनुशासन और सेवा भाव का परिचय दिया. शासन-प्रशासन और जनता-जनार्दन ने इस स्थिति को अच्छे तरीके से संभालने का काम किया है.

पीएम ने कहा कि जिस प्रकार 22 मार्च रविवार के दिन लड़ाई लड़ने वाले हर किसी का धन्यवाद किया, वो भी आज सभी देशों के लिए मिसाल बन गया. आज कई देश इसको दोहरा रहे हैं. जनता कर्फ्यू दुनिया के लिए मिसाल बना, जिससे ये साबित हुआ कि देश एकजुट होकर लड़ाई लड़ सकता है.

SOURCE – AAZ TAK

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here