पीले फूल और साड़ी में सजी ऐश्वर्या की हुई हल्दी की रस्म, चांदी की चौकी पर बिठा हुआ चुमावन

खबरें बिहार की

उधर दूल्हा तेज प्रताप के घर पर हल्दी मटकोर की तैयारी है तो इधर दुल्हन ऐश्वर्या की शादी समारोह की तैयारी अंतिम चरण में है। उनकी चाचियों और मौसियों ने दुल्हन की शादी के रस्म शुरू कर दिए हैं।

उनकी मां पूर्णिमा राय ने चांदी की चौकी पर पीले रंग की साड़ी में अपनी बेटी ऐश्वर्या को बिठाकर चुमावन (शादी का रस्म) की रस्म पूरी की। इस दौरान महिलाओं ने गंगा जमुनवा के निर्मल पानी शुभे हो, अम्मा रानी ढारेली पानी…, गीत गाया। ऐश्वर्या की दिल्ली में रहने वाली दोनों चाचियां और गांव में रहने वाले सभी रिश्तेदार पांच सर्कुलर रोड पहुंच चुके हैं।


परिसर में शहनाइयों की तान पर शादी के गीत बजाए जा रहे हैं। पिता चंद्रिका राय घर की तैयारियों के साथ-साथ जयमाल और बारात को खिलाने वाले जगह वेटनरी कॉलेज मैदान का लगातार जायजा ले रहे हैं। वेटनरी ग्राउंड में जयमाल के लिए इतना ऊंचा मंच बनाया जा रहा है कि 15-20 हजार लोग वर-वधू को आसानी से देख सके।


वेटनरी ग्राउंड में करीब 20 हजार बारातियों को खिलाने के लिए कच्चे सामान पहुंच चुके हैं। 100 से अधिक हलवाइयों ने काम शुरू कर दिया है। पटना पहुंच चुके सरातियों (वधू पक्ष के लोग) के लिए लजीज खाना बनाया जा रहा है।

मुख्य हलवाई सुभाष चंद्र गुप्ता ने बताया कि भोज के लिए गुलाब जामुन, बुंदी मलाई, इमरती, कड़ाही पनीर, वेज कोफ्ता, परवल और आलू दम की सब्जी, कश्मीरी दाल, वेज बिरयानी, मीठा दही बाड़ा, नान, मिस्सी रोटी, पंजाबी कुल्चा, पंजाबी छोला, दाल मखनी, पुरी, पुलाव और लिट्टी चोखा बनाया जा रहा है।

शनिवार शाम को तेज प्रताप बीएमपी 5 की बग्घी पर सवार होकर बारात के साथ निकलेंगे। 10 सर्कुलर रोड से बारात पटना एयरपोर्ट रोड होते हुए वेटनरी कॉलेज मैदान पहुंचेगी। यहां जयमाल होगा। सभी अतिथियों का स्वागत चंद्रिका राय वेटनरी मैदान में करेंगे।

जयमाल के बाद अतिथि वर वधू को आशीर्वाद देंगे। भोज संपन्न होने के बाद शादी की सारी विधियां ऐश्वर्या के निवास 5 सर्कुलर रोड में संपन्न होगी। यहां सिर्फ दोनों परिवार के करीबी रिश्तेदार ही होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.