पटना में एक गैराज से 250 रुपए में शुरू की कंपनी और आज हैं करोर्ड़ों का टर्नओवर

कही-सुनी

आज हम आपको बताते हैं सफलता की एक दिलचस्प और प्रेरणादायक कहानी। हम बात कर रहे हैं आरके सिन्हा की जो पत्रकार हुआ करते थे जिनकी नौकरी जेपी आंदोलन से जुड़ने के बाद चली गई थी। पत्रकार की नौकरी जाने के बाद भी आरके सिन्हा निराश नहीं हुए और फिर एक दिन खुद की कंपनी शुरू करने का निर्णय लिया।

केवल 250 रुपये की पूंजी से शुरू की गई उस कंपनी का टर्नओवर आज अरबों रुपये में है। करीब 857 करोड़ की संपत्ति क मालिक आरके सिन्हा क नाम से विख्यात रावेंद्र किशोर सिन्हा राजयसभा में बिहार से सांसद भी हैं। अपनी मेहनत और लगन से आरके सिन्हा की SIS कंपनी में 70 हजार से ज्यादा गार्ड्स काम करते हैं।

3200 करोड़ की टर्नओवर वाली SIS की सफलता और प्रसिद्धि का अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि कृष 3 फिल्म में अभिनेता ऋतिक रोशन सिक्योरिटी कंपनी SIS की यूनिफॉर्म में नजर आये थे।

मूल रूप से बिहार के बक्सर जिले के रहने वाले आरके सिन्हा का जन्म एक निम्न मध्यमवर्गीय परिवार में 22 सितंबर 1951 को हुआ था। वर्ष 1971 में आरके सिन्हा 230 रुपये की तनख्वाह पर पटना के एक अखबार में ट्रेनी पत्रकार के रूप पे नौकरी करने लगे। भारत पाकिस्तान क बीच जब बांग्लादेश की आजादी को लेकर 1971 में युद्ध छिड़ा तो आरके सिन्हा ने बिहार रेजीमेंट के साथ रहकर बॉर्डर पर युद्ध की रिपोर्टिंग की थी।

आपातकाल के दौरान जयप्रकाश नारायण से प्रभावित होकर जेपी आंदोलन से जुड़े तो 1974 में आरके सिन्हा को नौकरी से बर्खास्त कर दिया। इतना ही नहीं, जेपी के नेतृत्व में छात्र आंदोलन पर ‘जनआंदोलन’ नाम की किताब भी लिख चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.