dowry bihar

नीतीश ने फिर दोहराया बिहार में दहेजबंदी का अपना संकल्प

खबरें बिहार की

संगठन विस्तार से लेके बूथ लेवल तक, बिहार से ले कर बिहार के बाहर तक जेडीयू कैसे मजबूत हो इसके लिये पार्टी की राज्य कार्यकारिणी ने रविवार को चार घंटे तक मंथन किया.

चार घंटे तक चली इस बैठक में नीतीश कुमार की अध्यक्षता में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए जो आने वाले चुनाव में जेडीयू के लिए महत्वपूर्ण साबित हो सकता है.

एक अणे मार्ग में नीतीश कुमार ने जेडीयू राज्य कार्यकारिणी की महत्वपूर्ण बैठक बुलाई.

dowry bihar

महागठबन्धन से अलग होने के बाद बदली हुई राजनैतिक परिस्थितियों के साथ एनडीए के नए सहयोगी बनने के बाद जेडीयू के लिए भी अपने पार्टी के जनाधार को बढ़ाने के साथ साथ आने वाले लोकसभा चुनाव में अपने दम ख़म का एहसास अपने सहयोगियों को कराना बड़ी चुनौती होगी. इन सभी वजहों को इस बैठक में बताया गया.

 

इसके बाद जेडीयू ने अभी से ही पार्टी को हर लेवल पर मजबूत करने की कोशिश करने की बात कही.

dowry bihar

बैठक में जेडीयू के विभिन्न प्रकोष्ठों के अध्यक्षों के साथ-साथ राज्य जेडीयू के तमाम नेताओं के लिए साफ़ साफ़ सन्देश दे दिया गया कि उन्हें पार्टी कैलेंडर के हिसाब से क्या करना है.

 

मैराथन बैठक के बाद जेडीयू प्रवक्ता अजय आलोक ने बैठक में किए गए फैसले को बताया.

dowry bihar

उन्होंने कहा कि बाल विवाह को दूर करने और दहेज़ मुक्त बिहार के लिए 2 अक्टूबर से अभियान के तहत जेडीयू आंदोलन छेड़ेगी.

जेडीयू कार्यकारिणी की बैठक के बाद नेताओं और कार्यकर्ताओ में भी उत्साह देखने को मिला क्योंकि उन्हें पार्टी को मजबूत करने का साफ़-साफ़ सन्देश के साथ साथ होमवर्क भी दे दिया गया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *