दरभंगा के उत्सव कौशल का UPSC में 14वां रैंक, सोमेश उपाध्याय ने 34वां रैंक हासिल किया

एक बिहारी सब पर भारी

यूपीएससी की सिविल सेवा परीक्षा, 2016 का रिजल्ट बुधवार की देश शाम घोषित कर दिया गया. इसमें बड़ी संख्या में बिहार के अभ्यर्थियों ने सफलता हासिल की है. दरभंगा के उत्सव कौशल ने टॉप 20 में जगह बनायी है.

उन्हें 14वां रैंक मिला है. सीएम साइंस कॉलेज के अंगरेजी के प्राध्यापक कौशल कुमार सिन्हा के पुत्र उत्सव कौशल ने यह सफलता दूसरे प्रयास में हासिल की. IIT, दिल्ली से बीटेक उत्सव को 2015 में 500वां रैंक मिला था. सारण के मढ़ौरा के अवारी गांव के सोमेश उपाध्याय ने 34वां रैंक हासिल किया है. उन्होंने यह सफलता दूसरे प्रयास में प्राप्त की है.

सुमित ने कहा कि यह सफलता मेरे लिए खास है, क्योंकि मेरे पिता की पुण्यतिथि के दिन यह रिजल्ट अाया है. पिता सपना था कि बेटा आइएएस बने. वहीं, दरभंगा के प्रसिद्ध चिकित्सक व पदमश्री डॉ मोहन मिश्रा की नतिनी सौम्या झा ने पहले प्रयास में ही 58वां रैंक प्राप्त किया है.

उनके पिता संजय कुमार झा आइपीएस अधिकारी, जबकि मां डॉ मातंगी झा चिकित्सक हैं. सौम्या मूल रूप से मधुबनी जिले के डुमरा गांव की रहनेवाली हैं. उन्होंने डीएवी,पटना से 10वीं की परीक्षा पास की. डीपीएस, दिल्ली से इंटर पास करने के बाद वह मौलाना आजाद मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस की पढ़ाई 2016 में पूरी की.

मधुबनी के मूल निवासी नीरज कुमार झा को 109वां रैंक मिला है. उनकी फैमिली फिलहाल धनबाद में रहती है. नीरज के पिता दामोदर वैली कार्पोरेशन में कार्यरत हैं. दरभंगा के सुमित कुमार झा ने 111वां रैंक हासिल किया है. आइआइटी, रूड़की से बीटेक सुमित को यह सफलता दूसरे प्रयास में मिली.

पटना के सन्नी राज को 132वां रैंक मिला है. उनका यह चौथा प्रयास था. एनआइटी जमशेदपुर से बीटेक पिछले साथ उन्हें आइआरएस मिला था. गया के प्रभात रंजन पाठक ने 137वां रैंक हासिल किया है. उनका यह मेरा पहला ही प्रयास था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.