मोदी मंत्रिमंडल

तो इसलिए मोदी और शाह नहीं गए येदियुरप्पा के शपथग्रहण में

राजनीति

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक में येदियुरप्पा के नेतृत्व में बीजेपी सरकार बनाने के लिए शपथग्रहण की इजाजत तो दे दी थी लेकिन साथ ही शुक्रवार दोपहर तक समर्थक विधायकों की सूची सौंपने की शर्त भी लगा दी है।

इसकी वजह से सरकार गठन को लेकर काफी संशय की स्थ‍िति हो गई है। यह संशय किस हद तक है, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पीएम मोदी और अमित शाह येदियुरप्पा के शपथग्रहण समारोह में नहीं जा गए।

संभवत: सरकार गठन को लेकर किसी तरह की असहज स्थ‍िति से बचने के लिए दोनों नेता कर्नाटक नहीं गए। वहीं मोदी शाह को डर है कि अगर वो शपथ लेने के बाद भी बहुमत साबित नहीं कर पाए तो फालतू में फजीहत हो जाएगी। ऐसे में उन्होंने दिल्ली में रहना ही ठिक समझा।

new BJP CM

बीजेपी को यह आभास हो गया है कि कर्नाटक में सत्ता की राह में राजनीतिक और कानूनी अड़चन आ सकती है। इसलिए अभी तक के परंपरा को तोड़ते हुए पीएम मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह शपथग्रहण में नहीं गए।

यह काफी महत्वपूर्ण है, क्योंकि अभी तक बीजेपी के मुख्यमंत्रियों के शपथग्रहण समारोह एक मेगा इवेंट की तरह होते रहे हैं और पीएम मोदी तथा अमित शाह खुद उत्साह बढ़ाने के लिए वहां मौजूद रहते थे।

new BJP CM

इसके पहले बुधवार को बीजेपी नेता बी. एस. येदियुरप्पा को कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला से शपथग्रहण के लिए चिट्ठी मिल गई थी, जिसके बाद शपथग्रहण की तैयारियां की जाने लगीं थी।

राज्यपाल ने परंपराओं के मुताबिक सबसे आसान तरीका अपनाते हुए उस पार्टी को शपथग्रहण के लिए निमंत्रित किया, जो सबसे बड़ा दल है। हालांकि बीजेपी के पास बहुमत से 8 विधायक कम हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.