जेठ की गर्मी में भी इस मंदिर में होता है ठंड का अहसास

आस्था

जिन महीनों में भयानक गर्मी से पूरा भारत बेहाल होता है, उस दौरान वह जगह ठंडी होती जाती है। देशभर में जैसे-जैसे गर्मी के बढ़ती जाती वहीं उस जगह में ठंडक का स्तर बढ़ने लगता है।

इस बढ़ती हुई ठंडक की वजह कोई AC या कूलर नहीं है। यह जगह ओडीशा के टिटलागढ़ में एक चमत्कारी शिव मंदिर है। देश भर में टिटलागढ़ भीषण गर्मी के लिए जाना जाता है।

यहां कुम्हड़ा पहाड़ की पथरीली चट्टानों के कारण तापमान बहुत ज्यादा रहता है। इस पहाड़ की ऊंचाई पर टेम्प्रेचर 55 डिग्री तक पहुंचता है। इतनी गर्मी पड़ने के बावजूद कुम्हड़ा पहाड़ के एक हिस्से में ऐसा मंदिर भी है जहां बेहद ठंडक रहती है।

बाहर की चिलचिलाती गर्मी से जैसे ही आप मंदिर के अंदर प्रवेश करेंगे तो आपको AC जैसी कूलिंग का एहसास होगा, जबकि यहां कोई AC या कूलर नहीं लगा है। बाहर जितनी गर्मी होती है अंदर उतना ठंडा रहता है।

इस चमत्कारी मंदिर में भगवना शिव और मां पार्वती की मूर्ति है। ऐसा माना जाता है कि इन मूर्तियों से ही ठंडी हवा आती है, जो यहां के वातावरण को गर्म नहीं रहने देती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.