कोरोना वायरस की वजह से टोक्यो ओलिंपिक 2020 एक साल के लिए टल गया है. जापान के पीएम शिंजो आबे ने इंटरनेशनल ओलिंपिक कमेटी (आईओसी) से फोन पर बात की और इसके बाद टोक्यो ओलिंपिक को एक साल के लिए टाल दिया गया. टोक्यो ओलिंपिक को टालने का काफी ज्यादा दबाव था और कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड जैसे बड़े देशों ने मौजूदा स्थिति में इसमें हिस्सा लेने से इनकार कर दिया था.

24 जुलाई से 9 अगस्त तक होना था आयोजन
टोक्यो ओलिंपिक खेलों का आयोजन इस साल 24 जुलाई से लेकर 9 अगस्त तक किया जाना था. ओलिंपिक खेलों की मशाल ग्रीस से कुछ दिन पहले ही टोक्यो पहुंची थी. अब देखना दिलचस्प होगा कि आखिरी अगले साल ओलिंपिक कब से कब तक आयोजित किया जाएगा.

खेल रद्द होने पर क्या बोले जापानी पीएम और IOC
टोक्यो ओलिंपिक रद्द होने के बाद जापानी पीएम शिंजो आबे और IOC ने एक संयुक्त बयान में कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के नवीनतम जानकारी के आधार पर टोक्यो खेलों का कार्यक्रम 2020 से आगे की तारीख में तय करना होगा लेकिन यह 2021 की गर्मियों से आगे नहीं होगा. ऐसे खिलाड़ियों, ओलंपिक खेलों में शामिल प्रत्येक व्यक्ति और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के स्वास्थ्य और सुरक्षा को ध्यान में रखकर किया गया है.

बयान में कहा गया है, ‘इन दोनों ने सहमति व्यक्त की कि तोक्यो में ओलंपिक खेल इस मुश्किल घड़ी में दुनिया के लिये आशा की किरण बन सकते हैं और दुनिया अभी खुद को जिस अंधेरे में पा रही है उसमें ओलंपिक मशाल प्रकाशपुंज का काम कर सकती है.’ इसके अनुसार, ‘इसलिए इस पर सहमति बनी है कि ओलंपिक मशाल जापान में ही रहेगी. यह भी सहमति बनी है कि खेलों को पहले की तरह ओलंपिक और परालंपिक खेल तोक्यो 2020 के नाम से ही जाना जाएगा.’

3 बार रद्द हो चुके हैं ओलिंपिक
बता दें पहली बार किसी महामारी के चलते ओलिंपिक खेलों को टाला गया है. हालांकि इससे पहले ओलिंपिक खेल 3 बार रद्द हो चुके हैं.

1916 बर्लिन ओलिंपिक: इतिहास में पहली बार 1916 में ओलिंपिक रद्द हुए थे. प्रथम विश्व युद्द के कारण इस ओलिंपिक को रद्द करना पड़ा था. 4 जुलाई 1912 को आईओसी (IOC) की मीटिंग में बर्लिन ने बड़े-बड़े देशों को मात देकर मेजबानी हासिल की थी. मगर प्रथम विश्व युद्द के कारण यह ओलिंपिक रद्द हो गया ‌था. इसके 20 सालों बाद बर्लिन ने 1936 समर ओलिंपिक का आयोजन किया. दूसरे विश्व युद्द से पहले यह आखिरी ओलिंपिक था.

1940 टोक्यो ओलिंपिक: 1940 में 21 सितंबर से 6 अक्टूबर तक टोक्यो में 12वें ओलिंपिक का आयोजन होना था, मगर इसके बाद इसे पुननिर्धारित करके 20 जुलाई से 4 अगस्त के बीच फिनलैंड में आयोजित करवाने का फैसला लिया गया. मगर दूसरे विश्व युद्द के कारण आखिरकार इस ओलिंपिक को रद्द ही करना पड़ा. इसके बाद फिनलैंड ने 1952 में और टोक्यो ने 1964 में समर ओलिंपिक की मेजबानी की.

1944 लंदन ओलिंपिक: 13वें ओलिंपिक की मेजबानी लंदन को मिली थी, मगर दूसरे विश्व युद्द के चलते यह ओलिंपिक भी रद्द हो गए थे. इसके बाद लंदन ने 1948 ओलिंपिक की मेजबानी की थी.

SOURCE – NEWS 18

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here