इस वजह से कोरियाई लोग, राम की नगरी अयोध्या को अपना ननिहाल मानते है

खबरें बिहार की

भगवान की राम की नगरी ‘अयोध्या’ का नाम अकसर राजनीतिक कारणों से चर्चा में रहता है। लेकिन इस बार राम की जन्मनगरी अयोध्या इस बार राजनीतिक मुद्दा नहीं बल्कि कोरिया है।

आप सोच रहे होंगे भला अयोध्या का कनेक्शन कोरिया से कैसे हो सकता है। तो बता दे कि आज से लगभग दो हजार साल पहले हुई एक शादी ने अयोध्या का रिश्ता हजारों मील दूर स्थित कोरिया से जोड़ दिया था।

हुआ ये था कि भगवान राम को जब वनवास हुआ था, तो 14 साल बाद उनकी घर वापसी हो गई थी, लेकिन अयोध्या की ऐसी राजकुमारी है, जो अयोध्या से कोरिया तो पहुंच गई लेकिन वहां से वापिस लौट कर कभी नहीं आ पाई।

धर्म नगरी अयोध्या हर साल सैकड़ों कोरियाई लोगों की मेज़बानी करता है. ये लोग भारत में लीजेंडरी क्वीन Heo Hwang-ok को श्रद्धांजलि देने आते हैं।
ऐसा माना जाता है, राजकुमारी अयोध्या से कोरिया की यात्रा पर गईं थी. समुद्र यात्रा पर जाते वक़्त राजकुमारी अपने साथ नाव का बैलेंस बनाने के लिए एक पत्थर लेकर भी गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.