क्रिस लिन की पहचान एक विस्फोटक बल्लेबाज के तौर पर होती है, जो मैदान पर आते ही चौके-छक्के की बरसात करना पसंद करते हैं, उनका पूरा नाम क्रिस्टॉफर ऑस्टिन लिन है. घरेलू स्तर पर उन्होंने अपने करियर की शुरुआत क्वींसलैंड की अंडर-19 टीम से की थी, मार्च 2010 में उन्होंने अपना पहला प्रथम श्रेणी मैच गाबा के मैदान में दक्षिण ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेला था. डेब्यू के अगले ही हफ्ते उन्होंने पश्चिम ऑस्ट्रेलिया टीम के खिलाफ 139 रन की शानदार पारी खेली थी और अपनी टीम को जीत का स्वाद चखाया था.

लिन ने टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 29 जनवरी 2014 को होबार्ट के मैदान में इंग्लैंड के खिलाफ डेब्यू किया था, इस मैच में उन्होंने नाबाद 33 रन की पारी खेली थी. उन्होंने अपना पहला वनडे मैच पाकिस्तान के खिलाफ ब्रिस्बेन में खेला था, जिसमें उन्होंने 24 गेंदों में 16 रन बनाए थे.

साल 2018 के बाद उन्होंने कोई भी अंतरराष्ट्रीय मैच नहीं खेला. बार-बार चोटिल हो जाना उसकी बड़ी वजह रही है. वो इतने शानदार खिलाड़ी होने के बावजूद ऑस्ट्रेलिया की राष्ट्रीय टीम में खुद को स्थापित करने में नाकाम रहे.

लिन ने अपना करियर दुनियाभर की टी-20 लीग में बनाया है, वो ऑस्ट्रेलिया की बिग बैश लीग में ब्रिस्बेन हीट का हिस्सा थे. आईपीएल में उन्होंने साल 2012 में डेक्कन चार्जर्स की तरफ से डेब्यू किया. साल 2014 से साल 2019 तक वो कोलकाता नाइटराइडर्स टीम का हिस्सा रहे.

लिन ने अपने आईपीएल करियर में 41 मैच खेले हैं, 33.68 की औसत से 1280 रन बनाए हैं. इस दौरान उन्होंने 10 अर्धशतक लगाए हैं. मौजूदा वक्त में वो पाकिस्तान सुपर लीग की लाहौर कलंदर्स टीम का हिस्सा है. वो वेस्टइंडीज और श्रीलंका की टी-20 लीग में भी खेल चुके हैं.

SOURCE – ZEE NEWS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here