छात्रों के IG अंकल माने जाने वाले बिहार के आईपीएस अफसर अभयानंद केवल आईपीएस के लिए ही नही जाने जाते वल्कि ये गुरु के रूप में भी प्रसिद्ध हैं। अपनी ड्यूटी के अलावा आईजी अंकल बिहार में बच्चों को शिक्षा भी देते हैं। गरीब-गुरबे बच्चों को आईआईटी कराते हैं। इनकी अभयानंद सुपर-30 नामक एक संस्था है जहाँ से रिक्शावाले से लेकर खेतिहर मजदूर तक के बच्चे आईआईटी में जा रहे हैं।

जेईई एडवांस की परीक्षा में अभयानंद सुपर-30 की ओर से गरीब बच्चों को शिक्षा दी जाती है। हर साल बिहार ही नहीं, पूरे देश से उनके संस्थान के बच्चे आईआईटी में जा रहे हैं। फिलहाल अभयानंद सुपर-30 की पूरे देश में दर्जन भर शाखाएं हैं। वहीं बिहार में भी कई जिलों में इनके ब्रांचेज हैं। मेधावी छात्रों के बीच वे आज भी ‘आईजी अंकल’ के रूप में फेमस हैं।

आईपीएस अभयानंद को राजस्थान के जयपुर में  सम्मानित किया गया। 

बीते गुरुवार को इंडियन इंस्टीट्यूट आॅफ रूरल मैनेजमेंट की ओर से अभयानंद को प्रशस्ति पत्र व मोमेंटो देकर राजस्थान के जयपुर में सम्मानित किया गया। मौके पर मैनेजमेंट के डायरेक्टर बारबरा ने अभयानंद को Thomas Canagan अवार्ड प्रदान किया।

इंडियन इंस्टीट्यूट आॅफ रूरल मैनेजमेंट की ओर से यह अवार्ड साल में एक बार शिक्षाविद् को उल्लेखनीय कार्यों के लिए दिया जाता है। गुरुवार को आयोजित कार्यक्रम में पूर्व डीजीपी अभयानंद ने State vs Society विषय पर अपना व्याख्यान भी दिया।

उन्होंने बताया कि राज्य और समाज के बीच कैसे संबंध होने चाहिए। समाज को किन बातों पर ध्यान देने की जरूरत है। कैसे लोग एक दूसरे को मदद कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here