कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है. दुनियाभर वैज्ञानिक कोरोना वायरस के लक्षण का पता लगाने और उसका उपाय तलाशने की जुगत में दिन रात एक कर रहे हैं. कोरोना वायरस की त्रासदी के बीच अब अमेरिका की शीर्ष मेडिकल वॉचडॉगने इस महामारी के नए लक्षणों के बारे में जानकारी दी है. रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र या सीडीसी जो दुनियाभर के लैब में मिल रहे कोरोना वायरस के लक्षण पर नजर रखती है उसने कोरोना के नए ​लक्षणों के बारे में जानकारी दी है.

सीडीसी ने अपनी वेबसाइट के जरिये दुनिया को कोरोना के नए लक्षणों के बारे में जानकारी दी है. इसमें कोरोना के हल्के लक्षण से लेकर गंभीर बीमारी तक के बारे में बताया गया है. यह सभी लक्षण वायरस के संपर्क में आने के दो से 14 दिनों के भीतर दिखाई देने लगता है. सीडीसी के मुताबिक नए लक्षणों में ठंड लगना, मांसपेशियों में दर्द, सिरदर्द ओर स्वाद या गंध का न आना शामिल हैं. इन सभी नए लक्षणों को अभी तक विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अपनी लिस्ट में शामिल नहीं किया है.

डब्ल्यूएचओ ने COVID-19 के जिन लक्षणों के बारे में अभी तक जानकारी दी है उनमें बुखार, सूखी खांसी, थकान, शरीर में दर्द, नाक से पानी आना, गले में खराश और दस्त आने का उल्लेख किया गया है. सीडीसी और डब्ल्यूएचओ दोनों वेबसाइटों पर पहले से ही बताए गए लक्षण में बुखार, खांसी, सांस की तकलीफ को शामिल किया गया था.

80 फीसदी लोगों में नहीं दिखते कोरोना के लक्षण
डब्ल्यूएचओ का कहना है कि कुछ लोग कोरोना संक्रमित हो रहे हैं लेकिन उनमें बहुत हल्के लक्षण होते हैं. डब्ल्यूएचओ का कहना है, ज्यादातर लोग (लगभग 80 फीसदी) बिना अस्पताल में इलाज के बीमारी से उबर जाते हैं. COVID-19 से संक्रमित हर पांच में से 1 व्यक्ति गंभीर रूप से बीमार हो जाता है और उसे सांस लेने में काफी दिक्कत होती है. बूढ़े लोगों और उच्च रक्तचाप, हृदय और फेफड़ों की समस्याओं, मधुमेह या कैंसर जैसी बीमारी वाले लोगों में इस वायरस का संक्रमण खतरनाक तरीके से असर करता है.

Source – News18

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here